श्रम विभाग ने शिव कुमार को दिखाई आमदनी की नई राह

कमरून निशा

सफलता की कहानी

कोरिया 11 जनवरी 2021/छत्तीसगढ़ शासन श्रम विभाग के अंतर्गत छत्तीसगढ़ एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल के अंतर्गत कोरिया जिले के विकासखण्ड बैकुण्ठपुर के ग्राम पंचायत कसरा के निवासी श्री शिवकुमार पिता रामसुभग का पंजीयन मजदूर के रूप में श्रम विभाग में वर्ष 2017 में किया गया। विभाग में पंजीयन उपरांत शिवकुमार को विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी जिले में संचालित शिविरों, सम्मेलनों तथा अन्य प्रचार-प्रसार के माध्यम से प्राप्त हुई। इन्होनें वर्ष 2017-18 में मुख्यमंत्री निर्माण मजदूर कौशल विकास एवं परिवार सशक्तिकरण योजना अंतर्गत कौशल उन्नयन प्रशिक्षण हेतु आॅनलाइन आवेदन कार्यालय को प्रेषित किया। वर्ष 2017-18 में ही इनका आवेदन पात्रतानुसार कार्यालय द्वारा स्वीकृत कर उक्त योजनांतर्गत इन्हें व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदाता के माध्यम से 03 माह तक इलेक्ट्रिशियन का प्रशिक्षण प्रदान किया गया। प्रशिक्षण के पश्चात् विभाग द्वारा शिवकुमार को उक्त योजना अंतर्गत इलेक्ट्रिशियन का प्रमाण पत्र तथा मानदेय के रूप में कुल 22 हजार राशि प्रदान की गई। शिवकुमार प्रशिक्षण प्राप्त कर अपने आपको इलेक्ट्रशियन काॅन्टेªक्टर रूप में स्थापित करने का निश्चय किया तथा वर्ष 2018 में उसे पहला कान्टेªक्ट अपने ही जिले के ग्राम रामपुर में प्राप्त हुआ। उक्त कान्टेªक्ट से उसे लगभग 14 हजार की आमदानी हुई जिससे उत्साहित होकर उसने इसी क्षेत्र में आगे बढ़ने का निर्णय लिया। कान्टेªक्टर के रूप में स्थापित होने से पूर्व वे कुली/मजदूरी का काम करते थे। इनके पिता श्री रामसुभग पूर्व से ही श्रम विभाग में चरवाहा (दूध दुहने वाले) के रूप में पंजीकृत है। इन्हें सन् 2016 में मुख्यमंत्री राउत चरवाहा एवं दूध दुहने वाले सायकल सहायता योजना से लाभान्वित किया गया। इनके प्रोत्साहन से शिवकुमार द्वारा श्रम विभाग में पंजीयन करवाया गया। आज शिवकुमार की मासिक आमदनी 15 हजार से 20 हजार औसतन हो गई है तथा निरंतर उसे अपनी आजीविका का साधन अपने ही जिले में प्राप्त हो रहा हैै। इन्होनें छत्तीसगढ़ शासन के श्रम विभाग तथा जिला प्रशासन कोरिया को धन्यवाद दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *