नोडल अधिकारियों को धान खरीदी केन्द्रो का शतत् निगरानी करने के निर्देश – कलेक्टर राठौर समय सीमा की बैठक संपन्न

कमरून निशा

कोरिया 12 जनवरी 2021/कलेक्टर एस0एन0राठौर की अध्यक्षता में आज यहां जिला कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में समय सीमा की बैठक संपन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने विभिन्न विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा कोरिया जिला प्रवास पर की गई घोषणाओं की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने एडवेंचर पार्क चिरमिरी की प्रगति की जानकारी लेते हुए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व खड़गवां एवं नगर निगम आयुक्त चिरमिरी को डीपीआर, नक्शा, खसरा अन्य महत्वूपर्ण जानकारी एकत्रित कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। इसी तरह मनेन्द्रगढ़ में मेडिकल काॅलेज तथा नागपुर में शासकीय महाविद्यालय की जानकारी प्रस्तुत करने को कहा।
बैठक में कलेक्टर ने जिले में किसी भी प्रकार के नये भवन या मकान का निर्माण होता है उसमे वाटर हारवेस्टिंग बनवाने एवं उसका पालन अनिवार्यः करने के लिए कहा। जल संरक्षण एवं संवर्धन हेतु डबरी, तालाब, बांध, नाला इत्यादि जल संरक्षण के लिए जितने भी विभाग कार्यरत है। सभी को वाटर रिचार्ज करने हेतु निर्देश दिये है।
बैठक में कलेक्टर ने धान खरीदी की समीक्षा करते हुए कहा कि प्रत्येक खरीदी केंद्र में व्यवस्थाएं दुरूस्त रखें जिससे किसानों को सुविधा हो। राठौर ने निर्देशित करते हुए सभी धान खरीदी केन्द्रो के नोडल अधिकारियों को अपने-अपने समितियों में प्रतिदिन जाकर अनियमितताओं की निगरानी कर जल्द से जल्द निराकरण करने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होंने जिले में अब तक हुए धान खरीदी तथा अवैध धान परिवहन को रोकने के संबंध में जानकारी ली।
गोधन न्याय योजना के क्रियान्वयन की जानकारी लेते हुए कलेक्टर ने गोबर खरीदी, वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन एवं गौठानों में आजीविका संवर्धन गतिविधियों पर चर्चा की। कृषि विज्ञान केन्द्र, एग्रीकल्चर, नरेगा एवं बाड़ी विकास के तहत जहां भी खेती, सब्जी का उत्पादन होता है उन स्थान पर गोधन न्याय योजना से उत्पादित वर्मीकम्पोस्ट का अधिक से अधिक उपयोग किये जाने हेतु निर्देशित किये। श्रम विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार कर शतप्रतिशत श्रम पंजीयन करना भी सुनिश्तिच करें। जिससे पात्र हितग्रहियों को योजनाओं का लाभ मिल सकें।
बैठक में उन्होंने पीएम पोर्टल में लंबित शिकायतों का यथाशीघ्र निराकरण कराने तथा सीएम दर्पण पोर्टल में विभागीय कार्यों की प्रगति दर्ज कराने की भी जानकारी ली। इस दौरान कलेक्टर ने विभागीय योजनाओं से लाभान्वित हितग्राहियों से फीडबैक लेने के लिए भी अधिकारियों को निर्देशित किया।
बैठक में कलेक्टर राठौर ने सुपोषण अभियान के संबंध में चर्चा करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ को कुपोषण से मुक्त करना राज्य शासन की प्राथमिकता में शामिल है। इस योजना का जिले मे अच्छे से क्रियान्वयन हो, इसका अधिकारी ध्यान रखें और इसका प्रचार-प्रसार भी करें। इसी क्रम में उन्होंने हाट बाजार क्लिनिक योजना, वन अधिकार पट्टा, फसल बोनी, पीएम किसान सम्मान निधि आदि के संबंध में जानकारी लेकर संबंधितों को आवश्यक निर्देश दिये। इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर एवं सभी विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *