मझगवां मे बन रहे सीसी सडक का हाल बेहाल, स्थानिय जनों ने कहा नियमानुसार नहीं हो रहा कार्य सरपंच के पति कर रहा मनमानी भ्रष्टाचार खुल के नहीं डरता जिला प्रशासन को जिसको जो करना कर ले मेरा

कमरून निशा

मझगवां मे बन रहे सीसी सडक का हाल बेहाल, स्थानिय जनों ने कहा नियमानुसार नहीं हो रहा कार्य सरपंच के पति कर रहा मनमानी भ्रष्टाचार खुल के नहीं डरता जिला प्रशासन को जिसको जो करना कर ले मेरा मैं काम ऐसे ही करवा लूंगा मझगवा वालों से मैं नहीं डरता न जनपद पंचायत बैकुंठपुर से भी नहीं डरता मेरा जिसको जो करना कर लो मैं सरपंच का पति हूं जो चाहूं जैसा करूंगा पावर है मुझे पूरा।

बैकुण्ठपुर। जनपद पंचायत बैकुण्ठपुर के अंतर्गत आनें वाले ग्राम पंचायत मे सीसी सडक का कार्य किया जा रहा है, स्थानियजनों ने बताया की इस कार्य को सरपंच पति अपनें देख रेख मे बनवा रहा है, लेकिन इस सडक की गुणवत्ता भगवान भरोसे है, ऐसा हम इसलिए कह रहे है कि जो सडक बन रही है उसकी मोटाई और चौडाई दोनों कम है,

सांथ ही सडक बराबर नहीं बन रही है, बिना किसी मशीन के ही सडक निर्माण कराया जा रहा है। इस संबंध मे जब ग्रामिणों से जानकारी ली गई तब पता चला की उक्त सडक का कार्य सरपंच पति करा रहा है, निर्माण कार्य को देखनें इंजिनियर भी नहीं आते है। पूर्व पंच संजय का कहना है की सडक के स्टीमेट के हिसाब से कार्य नही किया जा रहा है, मेरे कार्यकाल मे भी सडक बनी थी जो आज भी मजबुत है, लेकिन जो अभी सडक बन रही है, वह अभी से ही टूटनें फूटनें लगी है।

सीसी सड़क जो बनाया जा रहा है उस सीसी सड़क में जो मटेरियल की मात्राएं डाली जाती हैं वह भी मनमानी तरीके से डाली जा रही है जिसको लेकर हमारे द्वारा सरपंच पति को भी बोला गया की मात्रा कम से कम नियमित डालिए ताकि कुछ सालों तक यह सड़क चल सके किंतु सरपंच पति ने ग्रामीणों को कहा कि एक बार टूट जाने से दोबारा फिर बना दिया जाएगा कई ग्रामीणों ने दबी जुबान से भी कहा कि यहां इस प्रकार लगातार हो रहा है कि सरपंच पति के द्वारा मनमाने तरीके से कार्य किया जा रहा यहां के सचिव से जब इस संबंध में बात करना चाहा गया तो उन्होंने कहा कि मैं ग्राम पंचायत कार्यालय मझगवां में नहीं बैठता बल्कि मेरा कार्यालय उप सरपंच के घर में लगता है जो भी कार्य हो या आपको मुझसे बात करनी हो तो आप मझगवां के ग्राम पंचायत कार्यालय में नहीं उप सरपंच के घर में आइए वह मेरा कार्यालय है।

आपको बता दें कि सरपंच पति के द्वारा ग्रामीणों को बोला गया टूट जाएगा तो दोबारा बन जाएगा सरकारी काम शासन के काम ऐसे ही चलता है टेंशन लेने की जरूरत नहीं मैं हूं ना मुझे डर नहीं किसी की

Leave a Reply

Your email address will not be published.