कलेक्टर धावड़े के निर्देश पर सुपोषण अभियान में लापरवाही बरतने वाले 35 सेक्टर प्रभारियों को डीपीओ महिला व बाल विकास विभाग ने जारी किया कारण बताओ नोटिस

kamrun nisha

कोरिया 14 सितंबर 2021/ कलेक्टर श्याम धावड़े द्वारा लगातार जिले में सुपोषण अभियान के क्रियान्वयन की समीक्षा की जा रही है। आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में सुपोषण अभियान की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने नोडल ग्राम प्रभारियों को उनके प्रभार गावों में विशेष पहल करते हुए सुपोषण अभियान की मानिटरिंग कर कुपोषण मुक्त कराने के निर्देश दिये। प्रत्येक नोडल अधिकारी को एक से पॉच ग्राम के मानीटरिंग के निर्देश दिये गये है। कलेक्टर श्री धावड़े ने सभी ग्राम नोडल अधिकारियों को 2 माह का समय दिया है। 14 नवम्बर 2021 बाल दिवस के अवसर पर इस विशेष अभियान की समीक्षा की जायेगी।
शिक्षा, स्वास्थ्य और सुपोषण पर अपनी प्राथमिकता जाहिर करते हुए कलेक्टर ने आज सुपोषण अभियान के संचालन में लापरवाही बरतने वाले सेक्टर प्रभारियों को कलेक्टर धावड़े के निर्देश पर महिला एवं बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।
35 सेक्टर प्रभारियों को नोटिस जारी –


विकासखण्ड खड़गवां के सेक्टर देवाडांड़ रतनपुर की पर्यवेक्षक सुश्री निर्मला बरवा, बंजारीडांड श्रीमती विश्वासी बेक, खडगवां बडेसाल्ही श्रीमती खीस्टीना लकड़ा, कटकोना बरदर श्रीमती उषा अरमों, उधनापुर श्रीमती सरस्वती सिंह, चिरमी पोड़ी विनीता सिंह, चिरमिरी इन्दू पूहूप, कोडा कौशिल्या देवी जाटवार, विकासखण्ड मनेन्द्रगढ़ के सेक्टर पारोडोल खोंगापानी की पर्यवेक्षक श्रीमती आशा देवी, मनेन्द्रगढ शहरी एवं ग्रामीण श्रीमती शिल्पा अग्रहरी, झ्ागराखांड श्रीमती सुमन सिंह, कछौड बिहारपुर श्रीमती चिन्ता तिवारी, कठौतिया श्रीमती रूपा चतुर्वेदी, नागपुर श्रीमती सरिता राठौर, केल्हारी सुश्री सावित्री चन्द्रा, विकासखण्ड बैकुण्ठपुर के सेक्टर सलका की पर्यवेक्षक श्रीमती शीला एक्का, चेरवापारा श्रीमती शंभू गहरवार, चरचा श्रीमती अनिता साहू, पटना रनई सुश्री विमला भगत, नगर श्रीमती चन्द्रशीला मेहता, गिरजापुर श्रीमती असरीता जायसवाल, बैकुण्ठपुर श्रीमती गौरी राजपूत सरभोका श्रीमती रेणु जायसवाल, बुड़ार श्रीमती मानमती, पतरापाली श्रीमती दीपश्याम, जमगहना सुश्री प्रकृति भट्ट, विकासखण्ड भरतपुर के सेक्टर कोटाडोल खमरौध की पर्यवेक्षक श्रीमती गीता गौटिया, देवगढ़-कमर्जी-कुवॉरपुर श्रीमती सरोजबाला, भगवानपुर कंजिया श्रीमती नर्मदा अनन्त, माड़ीसरई जनकपुर श्रीमती नरबदिया मरकाम, बहरासी बडगांवकला श्रीमती संतोषी रात्रे एवं विकासखण्ड सोनहत के सेक्टर रामगढ़ की पर्यवेक्षक श्रीमती फिलसिता लकड़ा, भैंसवार-सोनहत श्रीमती प्रभा लकड़ा, कटगोडी-सोनहत श्रीमती सुषमा एक्का एवं सुंदरपुर रजौली की पर्यवेक्षक कौशिल्या बरेठ को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।
2 अक्टूबर 2019 से शासन द्वारा सुपोषण अभियान की शुरूआत की गई है। जारी नोटिस में पर्यवेक्षकों के द्वारा आंगनबाडी केन्द्रों का निरंतर निरीक्षण एवं मानिटरिंग नही किया जाना बताया गया है। उपरोक्त कृत्य शासकीय दायित्वों के निर्वहन में उदासीनता व लापरवाही का घोतक है उक्त कृत्य छत्तीसगढ़ सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के नियम-3 के विपरीत होकर कदाचरण की श्रेणी मे आता है। सभी सेक्टर प्रभारियों को 7 दिवस के भीतर जवाब तलब किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *