क्वॉरेंटाइन सेंटर में अधिकारियों द्वारा युवक से मारपीट केंद्रीय राज्य मंत्री पहुंची पीड़ित से मिलने अधिकारियों को दी चेतावनी- अपना कार्य शैली बदलो नहीं तो ठीक करना जानती हूं


केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने कहा भगवाधारी भाजपा कार्यकर्ता निरीह नहीं
अधिकारी जनता के साथ गुंडागर्दी करना छोड़ दें नहीं तो मैं सुधारना जानती हूँ!
बलरामपुर जिला मुख्यालय के क्वॉरेंटाइन सेंटर बालक छात्रावास में अव्यवस्था को लेकर वीडियो वायरल किए जाने पर युवक के साथ दो अधिकारियों द्वारा 16 मई 2020 रात्रि 11:00 बजे मारपीट की गयी। मामला थाना बहुत चुका है और अब मामले की जांच करने आई राज्य केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह की पहुंचने के बाद राजनीति भी गरमाने लगी है। केंद्रीय मंत्री ने मारपीट किए जाने के आरोप में जनपद सीईओ बलरामपुर एवं तहसीलदार को जमकर फटकार लगाई साथियों ने कहा क्षेत्र की जनता के साथ अत्याचार कतई बर्दाश्त नहीं होगा और दादागिरी नहीं चलेगी। केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए अधिकारियों से कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं को कमजोर समझना छोड़ दें और अपनी कार्यशैली में सुधार लाएं नहीं तो ठीक करना जानती हूं।
मामला बलरामपुर जिला मुख्यालय के क्वॉरेंटाइन सेंटर की है जहां दिल्ली से दिलीप गुप्ता नाम का युवक स्वयं ही क्वॉरेंटाइन कराने पहुंचा। 15 मई 2020 को क्वॉरेंटाइन सेंटर की अव्यवस्था को देखते हुए युवक ने वीडियो बनाकर फेसबुक पर पोस्ट कर दिया। पोस्ट किए गए वीडियो में भोजन बिस्तर बाथरूम की अव्यवस्था बिस्तर एवं कमियों के विषय में बताया गया था।
मिली जानकारी के अनुसार वायरल किए गए वीडियो से नाराज होकर बलरामपुर तहसीलदार एवं जनपद सीईओ 16 मई 2020 रात्रि 11:00 बजे एक वारंटी सेंटर पहुंचकर दिलीप गुप्ता की जमकर पिटाई कर दी जिसकी शिकायत दिलीप गुप्ता के पिता चंद्रिका गुप्ता ने बलरामपुर थाना पहुंचकर थाना प्रभारी बलरामपुर को सूचना दिया कि क्वॉरेंटाइन सेंटर की अव्यवस्था को उजागर करने के मामले में उसके पुत्र दिलीप कुमार गुप्ता की जनपद सीईओ बलरामपुर और तहसीलदार द्वारा बेरहमी से पीटा गया है। और दिलीप कुमार को उसके ग्राम डौरा भिजवा दिया गया।
मामले की जांच करने पहुंची राज्य केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह द्वारा ग्राम डौरा जिला में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर का निरीक्षण किया गया, साथ ही साथ दिलीप गुप्ता से भी उसके साथ अधिकारियों द्वारा किए गए मारपीट की जानकारी ली गई। जिसमें दिलीप कुमार गुप्ता ने बताया कि वीडियो वायरल होने के बाद दोनों अधिकारी जनपद सीईओ एवं तहसीलदार 16 तारीख रात्रि 11:00 बजे पहुंचकर उससे मारपीट की तथा उससे उसका फोन छीनने की कोशिश की गई जिससे वह जमीन पर पड़ी पर गिर पड़ा और उसकी पीठ पर काफी चोट आई है।
जिसे देख कर केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने जनपद सीईओ एवं तहसीलदार को मौके पर ही फटकार लगाई और कहा कि जनता के साथ अत्याचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि युवक दिलीप गुप्ता के साथ ऐसा व्यवहार किया गया है जैसे वह आतंकवादी या देशद्रोही हो। केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने दिलीप को न्याय दिलाने का वादा किया और अधिकारियों को भारत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस पढ़ने को कहा।
रेणुका सिंह ने अधिकारियों को दी चेतावनी:
केंद्रीय राज्य मंत्री बने जनपद सीईओ और तहसीलदार से चेतावनी भरे शब्दों में कहा कि भगवाधारी भाजपा कार्यकर्ताओं को कमजोर समझना और भेदभाव करना छोड़ दें और अपनी कार्यशैली में सुधार लाएं नहीं तो मैं ठीक करना जानती हूं।
पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने बताया कि प्रशासन पूरे मामले को छिपाने की कोशिश कर रही है और दिलीप गुप्ता के साथ अन्याय हो रहा है। दिलीप गुप्ता द्वारा वीडियो बनाकर प्रशासन की अवस्था को उजागर किया गया परंतु प्रशासनिक अधिकारी जनपद सीईओ और तहसीलदार दिलीप कुमार के ऊपर ही एफ आई आर कर दिया है।
पूरे मामले से नाराज मंत्री ने जिला कलेक्टर एवं एसपी को मामले की निष्पक्ष जांच करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *